होमकंप्यूटरकंप्यूटर के प्रकार / Computer Kitne Prakar Ke Hote Hain ?

कंप्यूटर के प्रकार / Computer Kitne Prakar Ke Hote Hain ?

कंप्यूटर के प्रकार
कंप्यूटर के प्रकार

कंप्यूटर के प्रकार

कंप्यूटर अपने आकार, काम करने की क्षमता और और निर्माण तकनीक के अनुसार अलग-अलग प्रकार के होते हैं, कंप्यूटर के प्रकार को समझने के लिए हम कंप्यूटर को हम तीन प्रकार में वर्गीकृत कर सकते हैं.

  1. अनुप्रयोग (Application)
  2. उद्देश्य (Objective)
  3. आकार (Size)

1. अनुप्रयोग (Application) –

अनुप्रयोग के आधार पर बने हुए कंप्यूटरों को भी अलग-अलग प्रकार में बांटा गया है अनुप्रयोग के आधार पर कंप्यूटरों को तीन प्रकार में बांटा गया है.

  • एनालॉग कंप्यूटर (Analog Computers)
  • डिजिटल कंप्यूटर (Digital Computers)
  • हायब्रिड कंप्यूटर (Hybrid Computers)

एनालॉग कंप्यूटर (Analog Computers) –

एनालॉग कंप्यूटर ऐसे कंप्यूटर होते हैं जो भौतिक मात्राएं जैसे कि, दाब (Presure), तापमान, लंबाई को माफ कर उनके परिणामों को अंको के रूप में प्रदर्शित करते हैं, एनालॉग कंप्यूटर उन समस्याओं के निकटतम उत्तर प्रदर्शित करते हैं जिनको डिफरेंशियल समीकरण से दर्शाया जा सकता है, एनालॉग कंप्यूटर राशि का परिमाप तुलना के आधार पर करते हैं.

एक थर्मामीटर कोई भी गणना नहीं करता है परंतु यह है पारे के संबंधित प्रसार की तुलना करके शरीर के तापमान को मापता है, इसी तरह से एक पेट्रोल पंप मैं लगा हुआ एनालॉग कंप्यूटर पेट्रोल पंप से निकले हुए पेट्रोल की मात्रा को मापता है और लीटर में प्रदर्शित करता है उसके मूल्य की गणना करके स्क्रीन पर दिखाता है.

एनालॉग कंप्यूटर मुख्य रूप से वैज्ञानिक और इंजीनियरिंग क्षेत्र में उपयोग किया जाते हैं क्योंकि क्षेत्रों में मात्राओं का अधिकतम यूज़ होता है, एनालॉग कंप्यूटर केवल अनुमानित माप निकालते हैं, 

कंप्यूटर के प्रकार
कंप्यूटर के प्रकार

डिजिटल कंप्यूटर (Digital Computers) –

डिजिटल कंप्यूटर ऐसे कंप्यूटर होते हैं जो अपना कार्य अंकों के आधार पर करते हैं, सामान्यतः कंप्यूटर का तात्पर्य डिजिटल कंप्यूटर से ही होता है. वर्तमान में जितने भी कंप्यूटर उपलब्ध है लगभग सभी कंप्यूटर डिजिटल कंप्यूटर ही होते हैं.

डिजिटल कंप्यूटर डाटा तथा प्रोग्राम को बायनरी डाटा 0 और 1 में परिवर्तित करके उन्हें इलेक्ट्रॉनिक रूप में ले आते हैं.

कंप्यूटर के प्रकार
कंप्यूटर के प्रकार

हायब्रिड कंप्यूटर (Hybrid Computers) –

हायब्रिड कंप्यूटर ऐसे कंप्यूटर होते हैं जो अलग-अलग गुण धर्म के कार्य करने में सक्षम होते हैं, ऐसे कंप्यूटर जिनमें एनालॉग कंप्यूटर और डिजिटल कंप्यूटर दोनों के गुण मौजूद होते हैं हायब्रिड कंप्यूटर (Hybrid Computers) कहलाते हैं.

हायब्रिड कंप्यूटर का एनालॉग डिवाइस किसी रोगी के लक्षण जैसे कि तापमान, रक्तचाप आदि को मापता है और फिर यह परिमाप बाद में डिजिटल भाग के द्वारा अंको में बदले जाते हैं और इस प्रकार रोगी के स्वास्थ्य में आए उतार-चढ़ाव को तत्काल प्रेक्षण किया जा सकता है.

कंप्यूटर के प्रकार
कंप्यूटर के प्रकार

2. उद्देश्य (Objective) –

उद्देश्य के अनुसार कंप्यूटरों के दो प्रकार होते हैं.

  • सामान्य उद्देश्य कंप्यूटर (General Purpose Computers) 
  • विशिष्ट उद्देश्य कंप्यूटर (Special Purpose Computers)

सामान्य उद्देश्य कंप्यूटर (General Purpose Computers) –

सामान्य उद्देश्य कंप्यूटर ऐसे कंप्यूटर होते हैं जिनमें अनेक काम करने की क्षमता होती है, जैसे कि वर्ड प्रोसेसिंग से पत्र तथा दस्तावेज तैयार करना, दस्तावेजों को छापना, संगीत सुनना, प्रोग्राम तथा ग्राफिक्स को चलाना, स्प्रेडशीट तैयार करना, इंटरनेट से कनेक्ट होना आदि कार्यों को संपन्न करते हैं. सामान्य उद्देश्य कंप्यूटर में लगे हुए सीपीयू (CPU) की कार्य करने की क्षमता सीमित होती है.

विशिष्ट उद्देश्य कंप्यूटर (Special Purpose Computers) –

विशिष्ट उद्देश्य कंप्यूटर यह ऐसे कंप्यूटर होते हैं जिन्हें किसी विशेष कार्य करने के लिए बनाया जाता है इन कंप्यूटरों में लगे सीपीयू (CPU) की छमता उस कार्य के अनुसार तय होती है, इन कंप्यूटर को विशेष रूप से तैयार किया जाता है यदि इनमें अनेक सीपीयू (CPU) की आवश्यकता होती है तो इनकी संरचना अनेक सीपीयू वाली कर देते हैं.

उदाहरण के लिए संगीत संपादित करने हेतु किसी संगीत स्टूडियो में लगा हुआ कंप्यूटर एक विशिष्ट उद्देश्य कंप्यूटर होगा, जिसमें संगीत से संबंधित उपकरणों को जोड़ा जाएगा और संगीत को अलग-अलग प्रभाव देकर संपादन किया जाएगा. फिल्म उद्योग में भी फिल्म संपादन के लिए विशिष्ट उद्देश्य कंप्यूटर का उपयोग किया जाता है, टेलीविजन ब्रॉडकास्टिंग में भी विशिष्ट उद्देश्य कंप्यूटर के द्वारा वर्चुअल स्टूडियो के सेट तैयार किए जाते हैं और इसके अलावा भी विशिष्ट उद्देश्य कंप्यूटर अलग-अलग क्षेत्रों में उपयोगी है जैसे कि –

  • अंतरिक्ष विज्ञान 
  • मौसम विज्ञान
  • युद्धक विमान का संचालन 
  • उपग्रह का संचालन
  • चिकित्सा 
  • भौतिक तथा रासायनिक विज्ञान में शोध 
  • कृषि विज्ञान 
  • इंजीनियरिंग 

3. आकार (Size) –

आकार के आधार पर कंप्यूटर को मुख्यतः 5 भागों में बांटा गया है.

  • माइक्रो कंप्यूटर (Micro Computers)
  • वर्कस्टेशन (Workstation)
  • मिनी कंप्यूटर (Mini Computers)
  • मेनफ्रेम कंप्यूटर (Mainframe Computers)
  • सुपर कंप्यूटर (Super Computers)
माइक्रो कंप्यूटर (Micro Computers) –

सन् 1970 के दशक में माइक्रोप्रोसेसर का आविष्कार हुआ था, और माइक्रोप्रोसेसर का यूज करके बनाए गए कंप्यूटर को माइक्रो कंप्यूटर कहा जाता है, माइक्रोप्रोसेसर के आविष्कार के बाद माइक्रोप्रोसेसर का उपयोग करके बनाए गए कंप्यूटर गति में तीव्र तथा आकार में छोटे होते थे और किसी के इस्तेमाल से सस्ती कंप्यूटर प्रणाली बनाना भी संभव हो पाया

माइक्रो कंप्यूटर को एक डेस्क में रख सकते हैं या फिर एक ब्रीफकेस में भी रखे जा सकते हैं, और यही छोटे कंप्यूटर माइक्रो कंप्यूटर कहलाए माइक्रो कंप्यूटर कीमत में सस्ते और आकार में छोटे होते हैं, माइक्रो कंप्यूटर को पर्सनल कंप्यूटर (Personal Computers) या पीसी (PC) भी कहते हैं. 

कंप्यूटर के प्रकार
कंप्यूटर के प्रकार

माइक्रो कंप्यूटर घरों में विद्यालयों की कक्षाओं तथा कार्यालय में प्रयुक्त किए गए, घरों में माइक्रो कंप्यूटर घर का खर्चा का ब्यौरा रखते हैं तथा मनोरंजन के साधन के रूप में काम आते हैं, विद्यालय में माइक्रो कंप्यूटर का यूज छात्रों की उपस्थिति पत्रक तैयार करने में, प्रश्न पत्र तैयार करने में, डाटा शीट बनाने में, मार्कशीट बनाने में और अलग-अलग विषयों की शिक्षा प्रदान करने के लिए उपयोग में आते हैं.

व्यापार के क्षेत्र में माइक्रो कंप्यूटर का एक व्यापक उपयोग है, व्यवसाय छोटा हो या फिर बड़ा दोनों ही व्यवसाय में माइक्रो कंप्यूटर उपयोगी है, माइक्रो कंप्यूटर का उपयोग करके बहुत ही आसानी से वर्ड प्रोसेसिंग, पत्र लेखन, प्रोजेक्टिंग, प्रस्तुतीकरण, प्रबंधन इन सभी कामों को संभालना आसान हो जाता है.

माइक्रो कंप्यूटर में एक ही सीपीयू लगा होता है परंतु वर्तमान समय में माइक्रो कंप्यूटर का विकास तेजी से हो रहा है और इसके परिणामस्वरूप कई सीपीयू युक्त माइक्रो कंप्यूटर भी उपलब्ध है. आज के समय में 15 हजार से लेकर 75 हजार रुपए तक की कीमत में माइक्रो कंप्यूटर उपलब्ध है.

वर्कस्टेशन (Workstation) –

वर्कस्टेशन आकार में माइक्रो कंप्यूटर के साइज के ही होते हैं परंतु वर्कस्टेशन अधिक शक्तिशाली होते हैं तथा यह विशेष रूप से जटिल कार्यों के लिए प्रयोग में लाए जाते हैं. वर्कस्टेशन जैसे कंप्यूटर माइक्रो कंप्यूटर के समान ही होते हैं किंतु इनकी कार्यक्षमता मिनी कंप्यूटर के जैसी होती है. यह कंप्यूटर माइक्रो कंप्यूटर से महंगे होते हैं तथा इनका उपयोग वैज्ञानिकों, इंजीनियरों तथा अन्य विशेषज्ञों द्वारा विशेष प्रयोजनों के लिए किया जाता है.

वर्कस्टेशन कंप्यूटर का उपयोग कंप्यूटरीकृत डिजाइन तथा ग्राफिक्स प्रभाव पैदा करने वाले कंप्यूटरों के रूप में किया जाता है, माइक्रो कंप्यूटर में अत्यधिक बदलाव तथा अधिक विकास के बाद अब वर्कस्टेशन का प्रचलन बहुत कम हो गया है तथा माइक्रो कंप्यूटर के उन्नत उत्पादन ने इसका स्थान ले लिया है अब माइक्रोकंप्यूटर भी उन्नत ग्राफिक्स तथा संचार क्षमताओं के साथ बाजार में उपलब्ध हो रहे हैं.

कंप्यूटर के प्रकार
कंप्यूटर के प्रकार
मिनी कंप्यूटर (Mini Computers) –

मिनी कंप्यूटर का उपयोग मध्यम आकार के व्यवसायिक तथा इंजीनियरिंग संस्थानों में होता है, यह कंप्यूटर माइक्रो कंप्यूटर की तुलना में अधिक शक्तिशाली होते हैं और यह कंप्यूटर माइक्रो कंप्यूटर से भी ज्यादा महंगे होते हैं.

मिनी कंप्यूटर की कीमत माइक्रो कंप्यूटर से ज्यादा होती है इसीलिए यह व्यक्तिगत रूप से नहीं खरीदे जाते हैं मिनी कंप्यूटर को छोटी या मध्यम स्तर की कंपनियां काम में लेती है. मिमिनी कंप्यूटर में टर्मिनल जोड़कर एक ही समय में 1 से अधिक व्यक्ति काम कर सकते हैं और इन कंप्यूटर में एक से अधिक सीपीयू हो सकते हैं तथा इन कंप्यूटर की मेमोरी और गति माइक्रो कंप्यूटर से अधिक होती है.

कंप्यूटर के प्रकार
Computer ke Prakar

मध्यम स्तर की कंपनी के लिए मिनी कंप्यूटर ही उपयोगी माने जाते हैं, कंपनी में हर व्यक्ति के लिए एक माइक्रो कंप्यूटर लगाना भी संभव है परंतु यह मिनी कंप्यूटर से भी महंगा पड़ जाएगा और इसके अलावा रखरखाव तथा मरम्मत की समस्या भी बढ़ जाएगी, इसीलिए मध्यम स्तर की कंपनियों में मिनी कंप्यूटर ही मुख्य केंद्रीय कंप्यूटर के रूप में कार्य करता है छोटे तथा मध्यम व्यवसायों में मिनी कंप्यूटर के द्वारा यह सब कार्य किए जाते हैं.

  • संस्थागत रिसोर्स प्लैनिंग
  • वित्तीय खातों का रखरखाव
  • कर्मचारियों के वेतन पत्र तैयार करना 
  • बिक्री विश्लेषण 
  • उत्पादन योजना 
  • यातायात में यात्रियों के लिए आरक्षण प्रणाली 
  • बैंकों में बैंकिंग के कार्य.
मेनफ्रेम कंप्यूटर (Mainframe Computers) –

मेनफ्रेम कंप्यूटर का आकार बहुत बड़ा होता है और साथ ही इनकी संग्रह क्षमता अधिक होती है, यह कंप्यूटर अधिक मात्रा के डाटा (DATA) को अधिक तेजी से प्रोसेस कर सकते हैं, इसीलिए इन कंप्यूटरों का उपयोग बड़ी कंपनियां, बैंक तथा सरकारी विभाग एक केंद्रीय कंप्यूटर के रूप में करते हैं. मेनफ्रेम कंप्यूटर 24 घंटे लगातार काम कर सकते हैं और इन पर एक साथ सैकड़ों यूजर कार्य कर सकते हैं. अत्यधिक डाटा को स्टोर करने के लिए इनमें नेटवर्क स्टोरेज सिस्टम का प्रयोग किया जाता है.

कंप्यूटर के प्रकार
Computer ke Prakar
सुपर कंप्यूटर (Super Computer) –

किसी भी समय सर्वाधिक गति से सर्वाधिक क्षमता वाले कंप्यूटरों को सुपर कंप्यूटर कहा जाता है, सुपर कंप्यूटर कंप्यूटर की सभी श्रेणियों में सबसे बड़े, सबसे अधिक संग्रहण क्षमता वाले तथा सबसे अधिक गति वाले होते हैं. 

विश्व का सबसे पहला सुपर कंप्यूटर इल्लीआक 4 था जिसने 1975 से काम करना शुरू किया था, इस पहले सुपर कंप्यूटर को डेनियल सलोटनिक बनाया था, यह सुपर कंप्यूटर एक बार में ही 64 कंप्यूटरों का काम कर लेता था 

कंप्यूटर के प्रकार
Computer ke Prakar

सुपर कंप्यूटर में समानता अनेक सीपीयू समांतर क्रम में कार्य करते हैं इस प्रक्रिया को समांतर प्रक्रिया (Parellel Processing) कहते हैं. इनकी गति मिलियन फ्लोटिंग पॉइंट ऑपरेशंस प्रति सेकंड तथा गीगाफ्लॉप्स (GigaFlops) में मापी जाती है. सुपरकंप्यूटर ‘नॉन वॉन न्यूमान सिद्धांत’ पर कार्य करते हैं सुपर कंप्यूटर का उपयोग बड़ी वैज्ञानिक तथा शोध प्रयोगशाला में शोध तथा खोज, मौसम की भविष्यवाणी, अंतरिक्ष यात्रा संबंधित अनुसंधान व विकास, उच्च गुणवत्ता वाले एनिमेशन तथा चलचित्र का निर्माण आदि कार्यों में किया जाता है इन सभी कार्यों में सुपर कंप्यूटर के द्वारा की जाने वाली गणनाए उच्च कोटि की शुद्धता वाली होती है.

इन्हें भी पढ़ें :-

कम्प्यूटर की पीढ़ियां (Generations of Computers)

कंप्यूटर का इतिहास (History of Computer)

Computer की संरचना

कंप्यूटर क्या है ? Computer का परिचय

Tags :- कंप्यूटर के प्रकार, Types of Computers, computer ke prakar, computer kitne prakar ke hote hain. कंप्यूटर के प्रकार / Computer Kitne Prakar Ke Hote Hain ?.

Reeteshhttp://Alltrickinfo.in
Hi I'm Reetesh chandrawanshi founder of Alltrickinfo.in, living in Chhindwara (M. P.), India. I am a fan of technology, and photography. I'm also interested in blogging, and sports...

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

twelve − 10 =

Recent Post

Popular Post