होमकंप्यूटरमशीन भाषा क्या है मशीनी भाषा की विशेषताएं

मशीन भाषा क्या है मशीनी भाषा की विशेषताएं

मशीन भाषा क्या है, मशीनी भाषा Machine language kya hai, machine bhasha, मशीनी भाषा की विशेषताएं

भाषा ऐसा माध्यम जिसकी मदद से हम दूसरे व्यक्ति से बातचीत कर सकते हैं इसी प्रकार से कंप्यूटर की भी अपनी एक भाषा है जो कंप्यूटर समझता है वह हमारी इंसानी भाषा नहीं समझता है कंप्यूटर जिस भाषा को समझता है उसे Machine Language या मशीनी भाषा कहते हैं.

Machine Language क्या है (मशीनी भाषा क्या है) –

मशीनी भाषा कंप्यूटर की आधारभूत भाषा है, मशीनी भाषा दो अंक 0 तथा 1 के प्रयोग से लिखी जाती है, Machine Language एकमात्र ऐसी लैंग्वेज है जिसे कंप्यूटर सीधे समझ पाता है, मशीनी भाषा को मशीनी संकेत भी कहा जाता है, मशीन भाषा को समझने के लिए कंप्यूटर को किसी भी अलग अनुवादक प्रोग्राम का उपयोग नहीं करना पड़ता है.

कंप्यूटर प्रोग्रामिंग भाषाएं (प्रोग्रामिंग भाषाओं के प्रकार)

कंप्यूटर का परिपथ इस प्रकार से तय किया जाता है कि कंप्यूटर मशीनी भाषा को तुरंत ही समझ जाता है और मशीनी भाषा को समझने के बाद कंप्यूटर मशीनी भाषा को विद्युत संकेतों में परिवर्तित कर लेता है. विद्युत संकेतों की दो अवस्थाएं होती है – विद्युत प्रवाह की उपस्थिति या विद्युत प्रवाह की अनुपस्थिति इन्हीं विद्युत संकेतों को आधार मानकर मशीन भाषा का विकास हुआ तथा कंप्यूटर में काम करना संभव हो पाया.

मशीनी भाषा में कंप्यूटर को जो भी निर्देश दिए जाते हैं प्रत्येक निर्देश के दो भाग होते हैं –

  1. क्रिया संकेत  (Operation code या Opcode)
  2. स्थिति संकेत (Location code या Operand)

क्रिया संकेत  (Operation code या Opcode) –

क्रिया संकेत कंप्यूटर को यह बताता है कि कौन सा काम करना है, मान लीजिए हमें कंप्यूटर से कुछ संख्या कैलकुलेट कराना है तो क्रिया संकेत कंप्यूटर को संख्या कैलकुलेट करने का निर्देश देती है.

स्थिति संकेत (Location code या Operand) –

स्थिति संकेत कंप्यूटर को यह बताता है कि आंकड़े कहां से प्राप्त करना है, और आंकड़ों को कहां पर संग्रहित करना है.

मशीनी भाषा की विशेषताएं –

  • यह अन्य भाषाओं से जल्दी क्रियान्वित होती है.

  • कंप्यूटर को इस भाषा को समझने के लिए किसी भी ट्रांसलेटर या अनुवादक प्रोग्राम की आवश्यकता नहीं पड़ती है.

  • Machine Language कंप्यूटर की आधारभूत भाषा है.

मशीनी भाषा की सीमाएं –

  • Machine Language मैं प्रोग्राम लिखने के लिए कंप्यूटर की आंतरिक संरचना का ज्ञान होना आवश्यक है.

  • मशीनी भाषा में लिखे गए प्रोग्राम को किसी दूसरे कंप्यूटर में रन नहीं कर सकते हैं क्योंकि सभी कंप्यूटर की आंतरिक संरचना अलग-अलग होती है.

  • इस भाषा में लिखें प्रोग्राम उसी कंप्यूटर में रन होता है जिसमें वह प्रोग्राम बनाया गया हो.

  • इस भाषा में प्रोग्राम लिखना अत्यंत कठिन होता है.

  • Machine Language में प्रोग्राम लिखने पर त्रुटि होने की आशंका ज्यादा होती है और त्रुटि होने पर त्रुटि को ढूंढ पाना बहुत मुश्किल होता है.

  • Machine Language में प्रोग्राम लिखने के लिए प्रोग्रामर को कंप्यूटर के हार्डवेयर तथा आंतरिक संरचना का संपूर्ण ज्ञान होना आवश्यक है.

  • Machine Language में 0 तथा 1 अंकों का उपयोग करके प्रोग्राम लिखा जाता है जो कि प्रोग्रामर के लिए बहुत कठिन कार्य होता है और Machine Language में प्रोग्राम लिखने में अधिक समय लगता है.

आज हमने इस पोस्ट में मशीन भाषा क्या है तथा मशीनी भाषा की विशेषताओं के बारे में जाना उम्मीद करता हूं अब आप मशीन भाषा के बारे में अच्छी तरह से जान गए होंगे.

Tags – Machine Language क्या है, मशीन भाषा क्या है, मशीनी भाषा Machine language kya hai, machine bhasha, मशीनी भाषा की विशेषताएं.

इन्हें भी पढ़ें :-

मल्टी टास्किंग क्या है? (Multitasking Operating System Kya hai)

कंप्यूटर में डाटा खर्च कम कैसे करें

कंप्यूटर के प्रकार / Computer Kitne Prakar Ke Hote Hain ?

कम्प्यूटर की पीढ़ियां (Generations of Computers)

कंप्यूटर का इतिहास (History of Computer)

मेमोरी मापन इकाइयां (कंप्यूटर मेमोरी मापने की इकाई)

इनपुट डिवाइस क्या है ? कंप्यूटर के इनपुट डिवाइस कौन से है

Reetesh
Reeteshhttp://Alltrickinfo.in
Hi I'm Reetesh chandrawanshi founder of Alltrickinfo.in, living in Chhindwara (M. P.), India. I am a fan of technology, and photography. I'm also interested in blogging, and sports...

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

14 − ten =

Popular Post